Bhagya Laxmi Yojana: बेटीयों को 2 लाख रूपये दे रही ये सरकार, जानें आवेदन प्रक्रिया

Bhagya Laxmi Yojana: बेटी पैदा होना, यह सिर्फ जन्म नहीं बल्कि खुशियों का त्योहार होता है। भाग्य लक्ष्मी योजना उसी उम्मीद को और मजबूत बनाने के लिए बनाई गई एक सरकारी पहल है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को लड़कियों के जन्म और पालन-पोषण के लिए प्रोत्साहित करना है और इससे बच्ची के उज्जवल भविष्य के लिए अच्छे से पढाई भी कर सकती हैं । साथ ही, यह योजना समाज में लिंग भेदभाव को कम करने और लड़कियों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति को सुधारने का प्रयास करती है।

यह भाग्य लक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा अपने राज्य के नागरिको के लिए शुरू की गई हैं | जिसमे सिर्फ बेटी जन्म हुई हैं, तो बेटियों का ख्याल नही रखा जाता बल्कि उनके माताओं को भी उनके स्वास्थ्य और आर्थिक सहायता के लिए मदद करती हैं | इस योजना के बारें में सभी जानकारी विस्तार से निचे आर्तिक्ले में बताई गई हैं |

Telegram Group (100k Members) Join Now

UP Bhagya Laxmi Yojana क्या हैं?

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना वर्ष 2017 में शुरू की गई थी | इसके तहत आर्थिक सहायता बेटी के जन्म पर माता को ₹5,100 की प्रारंभिक राशि प्रदान की जाती है. सरकार ₹50,000 का बांड प्रदान करती है, जो 21 साल बाद परिपक्व होकर ₹2 लाख हो जाता है. शिक्षा के लिए निरंतर आर्थिक सहायता और स्वास्थ्य बीमा लाभ प्रदान किये जातें हैं | यह राशि सीधे बेटी को ही मिलती हैं |

इस योजना का संचालन उत्तर प्रदेश सरकार के अधीन महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा की जाती हैं | इस योजना का मुख्य उदेश्य बेटी के जन्म होने पर माता-पिता निराश हो जातें हैं और उनके आर्थिक खर्च और शादी के खर्च को लेकर चिंतित हो जातें हैं | इस योजना से उन्हें प्रोत्साहन मिलेगी और बेटी जन्म हुई हैं इसकी चिंता दूर हो जाएगी क्युकी पुरे 2 लाख रूपये सरकार बेटी के नाम पर दे रही हैं |

Bhagya Laxmi Yojana के लिए कौन पात्र होंगे

  • उत्तर प्रदेश (UP) के स्थाई निवासी होने चाहिए |
  • यह योजना केवल बीपीएल परिवारों के लिए लागू है।
  • लाभार्थी परिवार में अधिकतम दो बेटियां होनी चाहिए।
  • लड़की के जन्म का पंजीकरण 1 साल के अंदर होना चाहिए।
  • लड़की को निर्धारित टीकाकरण कार्यक्रम के तहत सभी टीके लगवाए जाने चाहिए।
  • बाल विवाह जैसी कुरीतियों को रोकने के लिए लड़की का 18 साल से पहले विवाह नहीं होना चाहिए।
  • आठवीं कक्षा पास करने के बाद ही परिपक्वता राशि (बांड की राशि) का लाभ मिल सकेगा।

Bhagya Laxmi Yojana के तहत लाभ किस प्रकार मिलता हैं?

  • UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत बेटी के जन्म पर ही माता को 5000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती हैं | बेटी के जन्म पर सरकार के द्वारा 50000 रूपये का बांड भी प्रदान किया जाता हैं जो की बेटी के 21 साल होने पर परिपक्क होकर कुल 2 लाख रूपये का हो जाता हैं | यह पैसा सीधे बेटियों को ही मिलता हैं |
  • भाग्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत जब बेटी कक्षा 6 में प्रवेश करती हैं, तो उसके बैंक खातें में कुल 3000 रूपये आर्थिक सहायता के रूप में सरकार द्वारा जमा की जाती हैं |
  • इसके बाद जब बेटी कक्षा 8वी में पहुच जाती हैं तब भी उसके बैंक खातें में कुल 5000 रूपये सहायता राशी जमा की जाती हैं |
  • वही जब बेटी कक्षा 10वी में पहुच जाती हैं तब उसके बैंक खातें में 7000 रूपये की राशी सरकार द्वारा जमा की जाती हैं और 12वी कक्षा में पहुचने पर कुल 8000 रूपये जमा किये जाते हैं |

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स

  • लड़की के माता-पिता का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • जाती प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बेटी और माता-पिता का फोटो
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर आदि

Bhagya Laxmi Yojana Form Apply कैसे करें?

भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत लाभ लेने के लिए ऑफलाइन आवेदन फॉर्म भरना होगा |

आवेदन करने के लिए सबसे पहले अपने नजदीकी बाल व महिला विकास मंत्रालय के कार्यालय में जाना होगा |

कार्यालय से आवेदन फॉर्म प्राप्त करना हैं और उसमे मांगी गई सभी जानकारी को भरना हैं |

आवेदन फॉर्म के लिए मांगी गई सभी आवश्यक डाक्यूमेंट्स के छायाप्रति को अत्तैच करना हैं |

और इसके बाद कार्यालय में आवेदन फॉर्म को जमा कर देना हैं | और इसके रसीद को प्राप्त कर लेना हैं |

Important Link

Latest UpdateClick Here
Official WebsiteClick Here

1 thought on “Bhagya Laxmi Yojana: बेटीयों को 2 लाख रूपये दे रही ये सरकार, जानें आवेदन प्रक्रिया”

Leave a Comment