भोजपुरी और संस्कृत भाषा को मिला गूगल ट्रांसलेट में जगह, अब भोजपुरी में पढना समझना होगा आसान

भोजपुरी बोलने वालें और लिखने वालें लोगों के लिए गूगल के तरफ से बहुत ही अच्छी खबर आ चुकी है. गूगल ट्रांसलेट का तो नाम आप सबने सुना ही होगा. गूगल नें अपने गूगल ट्रांसलेट टूल को अपडेट किया हैं और इसमें नई भाषाओँ को जोड़ा हैं. इस नए अपडेट में कई भाषाओँ को जोड़े गए हैं जिसमे भोजपुरी और स्नास्कृत भी शामिल हैं. आइए इस आर्टिकल के माध्यम से गूगल ट्रांसलेट के नए अपडेट के बारें में बतातें हैं |

Bhojpuri Language google translate

अब भोजपुरी, संस्कृत और मैथली भाषा को भी कर सकते हैं गूगल ट्रांसलेट गूगल नें किया बदलाओ

आज गूगल ट्रांसलेट लगभग हर व्यक्ति की जरूरत बन चूका हैं क्यूंकि अलग-अलग देशो और देश के अलग-अलग राज्यों में विभिन्न भाषाओँ का प्रयोग लिखने और पढने में किया जाता है. जिससे की अलग-अलग स्थानों के बारें में जानने के लिए वहाँ के भाषा का जानना जरुरी हो जाता हैं ऐसे और भी कई जगह या प्लेटफार्म हैं जहाँ पर किसी अन्य भाषा को समझने और पढने में काफी दिक्कते होती हैं. लेकिन गूगल ट्रांसलेट एक ऐसा टूल हैं जो लोगों को इसमें काफी मदद करता हैं |

हल ही में गूगल नें अपने गूगल ट्रांसलेट टूल में 24 नई भाषाओँ को जोड़ा हैं. अब गूगल ट्रांसलेट की मदद से पुरे दुनिया में 133 भाषाओँ का अनुवाद किया जा सकेगा. आपको बता की इस अपडेट में भारत की जोड़ी गई भाषाओँ में भोजपुरी, असमिया, संस्कृत, मैथली, कोकनी, मिजो और डोगरी शामिल हैं | इस नए अपडेट से इन भाषाओँ को पढने और समझने में काफी आसानी होगी |

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भारत में भोजपुरी भाषा को लगभग 500 मिलियन लोगों द्वारा बोलने और लिखने में किया जाता हैं. उसी प्रकार संस्कृत भाषा का इस्तेमाल पुरे भारत में लगभग 20 हजार लोगो द्वारा किया जाता हैं. ऐसे ही भाषा लगभग 25 मिलियन लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाता हैं. इसी तरह अन्य भाषाएँ जो गूगल ट्रांसलेट में अपडेट किया गया हैं वह सब काफी मात्रा में लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाता हैं |

Check Also

Akshara Singh MMS Viral Video Download Link

Akshara Singh MMS Viral Video Download Link अक्षरा सिंह का एमएमएस वायरल विडियो डाउनलोड लिंक 2022

Akshara Singh MMS Viral Video Download Link, Akshara Singh MMS Viral Video, Akshara Singh MMS …

Leave a Reply

Your email address will not be published.